Ikkisveen Sadi Ke Liye Samajvaad (Hindi)

250.00

2 in stock

Description

इक्कीसवी सदी के लिए समाजवाद पुस्तक समाजवादी भविष्य की एक स्पष्ट और नई कल्पना प्रस्तुत करती है, साथ ही यह बतलाती है कि किस प्रकार उस कल्पना को यथार्थ में बदला जा सकता है! यह दर्शाती है कि किस प्रकार पूंजीवाद कि समझ अपने आप में एक राजनितिक कार्यवाई का काम क्र सकती है; किस प्रकार पूंजीवादी लाभ में निरंतर वृद्धि के खिलाफ मानवमन्त्र कि वास्तविक आवशयक्ताओं का बचाव किया जा सकता है! पूरी पुस्तक मई लेबोविट्ज़ ने एक बेहतर विषय बनाने के संघर्ष में जुटे लोगों के सरोकारों को रेखांकित किया है और यह कहने कि कोशिश कि है कि संघर्ष में जुटे लोगों को इक्कीसवीं सदी कि सच्चाईयों से भी रूबरू होना चाहिए! इस पुस्तक के कई अध्याय वेनेज़ुएला के मज़दूर संगठनों को सम्बोधित हैं जहाँ मज़दूरों का स्वप्रबंध उनके अजेंडे पर हैं! यहाँ समकालीन समाज को बदलने के ठोस प्रयासों को प्रभावित करने वाली वैश्विक प्रवत्तियाँ और अंतराष्ट्रीय दृष्टिकोण द्रष्टव्ये हैं! इक्कीसवीं सदी के लिए समाजवाद मार्क्सवादी परंपरा की अविरक्त प्राणशक्ति की साक्षी हैं! यह विश्लेषणात्मक अंतराष्ट्रीय और नैतिक मनोवेग के अपने गहरे संसाधनों का उपयोग हमारे समय के संघर्षों के मार्गदर्शन में करती हैं!

Additional information

Author(s)

Pages

146

ISBN

Language

Hindi

Format

Hardbound

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.